Articles 352-360 : Part XVIII (18) : Emergency Provisions

Part 18th Articles 352 to 360 in Constitution of India

EMERGENCY PROVISIONS

Article 352. Proclamation of Emergency
Article 353. Effect of Proclamation of Emergency
Article 354. Application of provisions relating to distribution of revenues while a Proclamation of Emergency is in operation
Article 355. Duty of the Union to protect States against external aggression and internal disturbance.
Article 356. Provisions in case of failure of constitutional machinery in States
Article 357. Exercise of legislative powers under Proclamation issued under
Article 358. Suspension of provisions of article 19 during emergencies.
Article 359. Suspension of the enforcement of the rights conferred by Part III during emergencies
Article 359A. [Repealed.]
Article 360. Provisions as to financial emergency

भाग XVIII: आपात उपबंध

अनुच्‍छेद 352 360

352 आपात की उदघोषणा.
353 आपात की उदघोषणा का प्रभाव.
354 जब आपात की उदघोषणा प्रवर्तन में है तब राजस्‍वों के वितरण संबंधी उपबंधों का लागू होना.
355 बाह्य आक्रमण और आंतरिक अशांति से राज्‍य की संरक्षा करने का संघ का कर्तव्‍य.
356 राज्‍यों सांविधानिक तंत्र के विफल हो जाने की दशा में उपबंध.
357 अनुच्‍छेद 356 के अधीन की गई उदघोषणा के अधीन विधायी शाक्तियों का प्रयोग.
358 आपात के दौरान अनुच्‍छेद 19 के उपबंधों का निलंबन.
359 आपात के दौरान भाग 3 द्वारा प्रदत्त अधिकारों के प्रवर्तन का निलबंन.
359क [निरसन]
360 वित्तीय आपात के बारे में उपबंध.