Articles 245-263 : Part XI (11) : Relations Between Union and States

CHAPTER I.—LEGISLATIVE RELATIONS 

Distribution of Legislative Powers

Article 245. Extent of laws made by Parliament and by the Legislatures of States
Article 246. Subject-matter of laws made by Parliament and by the Legislatures of States
Article 247. Power of Parliament to provide for the establishment of certain additional courts
Article 248. Residuary powers of legislation
Article 249. Power of Parliament to legislate with respect to a matter in the State List in the national interest
Article 250. Power of Parliament to legislate with respect to any matter in the State List if a Proclamation of Emergency is in operation
Article 251. Inconsistency between laws made by Parliament under articles 249 and 250 and laws made by the Legislatures of States
Article 252. Power of Parliament to legislate for two or more States by consent and adoption of such legislation by any other State
Article 253. Legislation for giving effect to international agreements
Article 254. Inconsistency between laws made by Parliament and laws made by the Legislatures of States
Article 255. Requirements as to recommendations and previous sanctions to be regarded as matters of procedure only

CHAPTER II.—ADMINISTRATIVE RELATIONS

General

Article 256. Obligation of States and the Union
Article 257. Control of the Union over States in certain cases
Article 257A. [Repealed.]
Article 258. Power of the Union to confer powers, etc., on States in certain cases
Article 258A. Power of the States to entrust functions to the Union
Article 259. [Repealed.]
Article 260. Jurisdiction of the Union in relation to territories outside India
Article 261. Public acts, records and judicial proceedings

Disputes relating to Waters

Article 262. Adjudication of disputes relating to waters of inter-State rivers or river valleys

Co-ordination between States 

Article 263. Provisions with respect to an inter-State Council

भाग 11: संघ और राज्यों के बीच संबंध:
अध्याय 1- विधायी संबंध
विधायी शक्तियों का वितरण

245. संसद द्वारा और राज्यों के विधान-मंडलों द्वारा बनाई गई विधियों का विस्तार
246. संसद द्वारा और राज्यों के विधान-मंडलों द्वारा बनाई गई विधियों की विषय-वस्तु
247. कुछ अतिरिक्त न्यायालयों की स्थापना का उपबंध करने की संसद की शक्ति
248. अवशिष्ट विधायी शक्तियाँ
249. राज्य सूची में के विषय के संबंध में राष्ट्रीय हित में विधि बनाने की संसद की शक्ति
250. यदि आपात की उद्‌घोषणा प्रवर्तन में हो तो राज्य सूची में के विषय के संबंध में विधि बनाने की संसद की शक्ति
251. संसद द्वारा अनुच्छेद 249 और अनुच्छेद 250 के अधीन बनाई गई विधियों और राज्यों के विधान-मंडलों द्वारा बनाई गई विधियों में असंगति
252. दो या अधिक राज्यों के लिए उनकी सहमति से विधि बनाने की संसद की शक्ति और ऐसी विधि का किसी अन्य राज्य द्वारा अंगीकार किया जाना
253. अंतरराष्ट्रीय करारों को प्रभावी करने के लिए विधान
254. संसद द्वारा बनाई गई विधियों और राज्यों के विधान-मंडलों द्वारा बनाई गई विधियों में असंगति
255. सिफारिशों और पूर्व मंजूरी के बारे में अपेक्षाओं को केवल प्रक्रिया के विषय मानना

अध्याय 2- विधाप्रशासनिक संबंध
सामान्य
256. राज्यों की और संघ की बाध्यता
257. कुछ दशाओं में राज्यों पर संघ का नियंत्रण
257क. संघ के सशस्त्र बलों या अन्य बलों के अभिनियोजन द्वारा राज्यों की सहायता।
संविधान (चवालीसवाँ संशोधन) अधिनियम, 1978 की धारा 33 द्वारा (20-6-1979 से) निरसित।
258. कुछ दशाओं में राज्यों को शक्ति प्रदान करने आदि की संघ की शक्ति
258क. संघ को कृत्य सौंपने की राज्यों की शक्ति
259. [पहली अनुसूची के भाग ख के राज्यों के सशस्त्र बल।] –
संविधान (सातवाँ संशोधन) अधिनियम, 1956 की धारा 29 और अनुसूची द्वारा निरसित।
260. भारत के बाहर के राज्यक्षेत्रों के संबंध में संघ की अधिकारिता
261. सार्वजनिक कार्य, अभिलेख और न्यायिक कार्यवाहियाँ
जल संबंधी विवाद
262. अंतरराज्यिक नदियों या नदी-दूनों के जल संबंधी विवादों का न्यायनिर्णयन
राज्यों के बीच समन्वय
263. अंतरराज्य परिषद के संबंध में उपबंध